सुनील दत्त उम्र, पत्नी, बच्चे, फिल्मी करियर और जीवन परिचय – Sunil Dutt Biography in Hindi

सुनील दत्त

अपने बेहतरीन अभिनय के दम पर बॉलीवुड को एक नई पहचान दिलाने वाले मशहूर अभिनेता सुनील दत्त (Sunil Dutt) का जन्म 6 जून 1929 को पंजाब प्रांत में हुआ था जो कि अब पाकिस्तान में है। सुनील दत्त ने अपने करियर में कई बड़ी फिल्मों में काम किया है और वह राजनीति में भी काफी सक्रिय रहे हैं और वह 2004-05 में मनमोहन सरकार के दौरान कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं, इसके अलावा वह संसद के मेंबर भी रहे हैं और उनका राजनीतिक कैरियर काफी सफल रहा है।

1968 में सुनील दत्त को भारत सरकार द्वारा पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था और सुनील दत्त ने 1984 में कांग्रेस पार्टी ज्वाइन कर लिया था और मुंबई पश्चिम उत्तर से 5 बार लोकसभा सांसद भी रह चुके हैं, सुनील दत्त ने जय हिंद कॉलेज मुंबई से अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी की थी जिसके बाद उन्होंने 1954 में जय हिंद कॉलेज से ही बीए ऑनर्स की डिग्री भी हासिल की थी।

ऊंचाई एवं शारीरिक दक्षता | Sunil Dutt Height and Body Measurements

सुनील दत्त अपने जमाने के काफी हैंडसम अभिनेता माने जाते थे और उनकी लंबाई 174 सेंटीमीटर थी और उनका वजन 70 किलोग्राम के आसपास था।

माता पिता एवं परिवार

सुनील दत्त के पिता का नाम दीवान रघुनाथ दत्त था और उनकी मां का नाम कुलवंती देवी दत्ता था सुनील दत्त के एक बड़े भाई हैं जिनका नाम सोमदत्त था और वह बॉलीवुड के जानेमाने अभिनेता है उनकी एक बहन भी थी जिनका नाम राजरानी बाली था।

सुनील दत्त की पत्नी और बच्चों के बारे में जानिए

1958 में अभिनेता सुनील दत्त ने बॉलीवुड की खूबसूरत और मुस्लिम अभिनेत्री नरगिस दत्त के साथ शादी कर लिया था हालांकि बाद में नरगिस दत्त ने हिंदू धर्म को अपना लिया था और उनके दो बच्चे हुए जिनका नाम बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता संजय दत्त और राजनीति में आज भी सक्रिय प्रिया दत्त उनकी बेटी है।

Also Read: कपिल शर्मा (कॉमेडियन) कुल संपत्ति, फीस, सैलेरी, इनकम, प्रॉपर्टी, कार कलेक्शन इत्यादि

अभिनय करियर

सुनील दत्त ने अपने अभिनय करियर की शुरुआत बतौर अभिनेता 1955 में रिलीज़ हुई फ़िल्म रेलवे प्लेटफार्म से किया था इसके पहले उन्होंने मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार के साथ 1953 में रिलीज़ हुई फ़िल्म शिकस्त में एक छोटा सा किरदार निभाया था इस फिल्म के दौरान ही उस वक्त के मशहूर फिल्म निर्माता रमेश सहगल सुनील दत्त की आवाज और पर्सनालिटी के दीवाने हो गए थे।

इसी कारण उन्होंने 1955 में अपनी बनाई गई फिल्म रेलवे प्लेटफार्म में उन्हें एक अभिनेता के तौर पर काम करने का मौका दिया था। सुनील दत्त का कैरियर उस समय बुलंदियों पर पहुंच गया जब 1957 में रिलीज हुई फिल्म मदर इंडिया ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है इस फिल्म में सुनील दत्त ने अभिनेत्री नरगिस के बेटे का किरदार निभाया था हालांकि बाद में जाकर उन्होंने नरगिस दत्त से शादी भी कर लिया था।

1950 से लेकर 1960 के समय सुनील दत्त ने बॉलीवुड की कई मशहूर फिल्मों में काम किया जो उन्हें बॉलीवुड के एक सफल अभिनेता बनाने के लिए काफी थी और उन्होंने 1967 में फिल्म पड़ोसन में काम किया है जो कि काफी पॉपुलर हुई थी।

1963 में रिलीज हुई बी आर चोपड़ा की फिल्म यादें उनके कैरियर की सफल फिल्मों में से एक मानी जाती है इस फिल्म के बाद उन्होंने 1965 में वक्त 1967 में हमराज जैसी कई बड़ी फिल्में की।

बतौर फिल्म निर्माता और निर्देशक के तौर पर 1971 में उन्होंने फिल्म रेशमा और शेरा का निर्माण किया था हालांकि यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप हो गई और उन्हें अपनी पहली ही फिल्म में असफलता का स्वाद चखना पड़ा।

1971 में उन्होंने खूबसूरत अभिनेत्री मधुबाला के साथ फिल्म ज्वाला में काम किया जो की सफल फिल्म साबित हुई थी इसके बाद उन्होंने 1974 में अभिनेत्री मधुबाला के साथ फिल्म गीता मेरा नाम में काम किया था यह फिल्म मधुबाला के कैरियर की अंतिम फिल्म थी।

1995 में अभिनेता सुनील दत्त को फिल्म फेयर के लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड प्राप्त हुआ था इसके बाद उन्होंने 2003 में अपने बेटे संजय दत्त के साथ फिल्म मुन्ना भाई एमबीबीएस में काम किया था और यह फिल्म सुनील दत्त के कैरियर की अंतिम फिल्म थी।

सुनील दत्त ने अपने 75वें जन्मदिन के 2 हफ्ते बाद 25 मई 2005 को अंतिम सांस ली और उनका निधन अचानक हार्ट अटैक की वजह से हो गया था, उस वक्त वह लोक सभा सांसद थे इनकी मृत्यु के बाद उनकी जगह पर उनकी बेटी प्रिया दत्त चुनाव लड़ती है और वह 2014 तक उस सीट पर सांसद के रूप में रही हैं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: