सुभाष घई की एक गलती और राजकुमार उनके चेहरे पर लगा देते अपना सिगार

सुभाष घाई बॉलीवुड के काफी बड़े फिल्म निर्माता है। जिन्होंने एक से बढ़कर एक कई सारी बेहतरीन फिल्में बॉलीवुड को दी हुई है। अपने बेहतरीन फिल्मों की वजह से काफी ज्यादा जाने जाते हैं, लेकिन एक बार के किस आया हुआ था जब राजकुमार साहब सुभाष घई के चेहरे पर अपना जलता सिगार डालने वाले थे, लेकिन सुभाष घई ने कोई गलती नहीं की। जिस वजह से उनका चेहरा बाल-बाल बच गया।

बॉलीवुड के काफी बड़े फिल्म निर्माता है सुभाष घई

सुभाष घई के बारे में अगर बात करें तो सुभाष घई बॉलीवुड के काफी बड़े फिल्म निर्माता हैं। जिन्होंने एक से बढ़कर एक फिल्म में बॉलीवुड तो दी हुई है। उनकी बनाई हुई फिल्में सिनेमाघरों में काफी ज्यादा हिट रहा करती है। और वह काफी लंबे समय से इंडस्ट्री में लगे हुए हैं। और इंडस्ट्री को उन्होंने कई सारी बेहतरीन फिल्में दी है, लेकिन आज हम उनकी एक फिल्म से जुड़ी एक किस्से के बारे में बात करने जा रहे हैं। जिसे आपको एक बार जरूर सुननी चाहिए।

सुभाष घई की एक गलती और राजकुमार उनके चेहरे पर लगा देते अपना सिगार

राजकुमार साहब अपने अंदाज के वजह से काफी ज्यादा थे फेमस

राजकुमार साहब अपने नवाबी अंदाज की वजह से काफी ज्यादा फेमस है। उनका असल नाम कुलभूषण पंडित था, लेकिन अपने ही अंदाज के वजह से वह राजकुमार नाम से प्रसिद्ध हो गया। अब आप किसी बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि वह कैसे स्वभाव के व्यक्ति थे। और अपना एक रॉब लेकर चलते थे जिस वजह से बॉलीवुड का बड़ा से बड़ा कलाकार उनसे बात करते वक्त काफी ज्यादा घबरा जाया करता था।

सुभाष घई की एक गलती और राजकुमार उनके चेहरे पर लगा देते अपना सिगार

राजकुमार के पास जब आए सुभाष घाई फिल्म का प्रपोजल ले कर

सुभाष घई के बारे में जैसा कि हम बात कर चुके हैं कि बॉलीवुड के काफी बड़े फिल्म निर्माता हैं। जिन्होंने एक से बढ़कर एक फिल्में दी हुई है उन्होंने ही बॉलीवुड की एक बहुत बड़ी फिल्म सौदागर बनाई थी। जिसमें विड्रोल पर हमें राजकुमार साहब और दिलीप कुमार नजर आए थे। दोनों नहीं फिल्म में काफी कमाल की एक्टिंग दिखाई थी। जब राजकुमार साहब के पास इन्होंने फिल्म की कहानी रखी तो राजकुमार साहब को उनकी फिल्म की कहानी काफी ज्यादा पसंद आई थी। जिसके बाद वह जाहिर तौर पर यह सवाल पूछ बैठे कि उनके सामने कौन सा कलाकार रहेगा। जैसा कि हम जानते हैं इस फिल्म में दो लीड रोल थे। इस वजह से उन्होंने दूसरे लीड रोल के बारे में पूछा तो सुभाष गई इसका जवाब देते हुए कहा दिलीप कुमार साहब जैसा कि हम सभी जानते हैं कि उस समय दिलीप कुमार जी से राजकुमार जी का 36 का आंकड़ा था, लेकिन वह चुप रहने के बाद बोले अगर तुम दिलीप कुमार के अलावा किसी दूसरे कलाकार का नाम लेते तो मैं तुम्हारे मुंह पर अपना जलता हुआ सिगार बुझा देता।

सुभाष घई की एक गलती और राजकुमार उनके चेहरे पर लगा देते अपना सिगार

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: