क्या ब्रह्मास्त्र भी तोड़ेगी दर्शकों का दिल…?

आलिया भट्ट और रणबीर कपूर की मचअवेटेड फिल्म ‘ब्रह्मास्त्र’ रिलीज होने के लिए पूरी तरह तैयार है। बता दे कोविड के कारण इस फिल्म के रिलीज डेट को कई बार आगे-पीछे किया गया। पर अब यह फिल्म 9 सितंबर को सिनेमाघरों में दस्तक देने जा रही है। इस फिल्म में आलिया और रणवीर के अलावा अमिताभ बच्चन मुख्य भूमिका में नजर आएंगे। इनके साथ मोनी रॉय और अक्कीनेनी नागार्जुन भी इस मूवी में अहम भूमिका में नजर आएंगे। रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की शादी के बाद यह उनकी एक साथ पहली मूवी है। पर अयान मुखर्जी निर्देशित ब्रह्मास्त्र को सेंसर बोर्ड द्वारा रिव्यू कुछ खास नहीं मिला। जिस कारण अब दर्शकों के बीच एक उलझन सी आ गई है कि यह भी फिल्म ‘लाइगर’ जैसी ना हो। क्योंकि विजय देवरकोंडा की फिल्म लाइगर के समय भी फिल्म को लेकर बज काफी हाय था, जिस कारण फिल्म को अच्छी ओपनिंग भी मिली थी। पर फिल्म की स्टोरी लाइनअप ने दर्शकों को काफी निराश किया। अब सब कयास लगा रहे है कि कहीं ब्रह्मास्त्र भी लाइगर जैसी ना निकले…

क्या ब्रह्मास्त्र भी तोड़ेगी दर्शकों का दिल...?

ब्रह्मास्त्र की रिव्यु ने किया सभी को निराश…

सेंसर बोर्ड के सदस्य उमैर संधू ने ‘ब्रह्मास्त्र’ को मात्र डेढ़ स्टार दिया है। इसके पीछे कारण यह बताया जा रहा है कि फिल्म से जैसी उम्मीद थी फिल्म उस लाइनअप पर नहीं उतरी। उमैर संधू ने अपने विचार प्रकट करते हुए कहा “हां आलिया भट्ट की परफॉर्मेंस काफी अच्छी थी पर अमिताभ बच्चन को फिल्म में काफी कम स्क्रीनप्ले मिला जो फिल्म की कमी है। वहीं रणबीर भी कहीं-कहीं फीके नजर आए और मोनी रॉय कुछ ज्यादा ही बोल्ड दिखी। उमेश संधू ने आगे लिखा कि फिल्म को अच्छा ओपनिंग मिल सकता है क्योंकि इसकी एडवांस बुकिंग काफी तगड़ी हुई है। पर फिल्म धीरे-धीरे बॉक्स-ऑफिस पर गिरती हुई नजर आएंगी। अगर फिल्म का प्रमोशन सही ढंग से नहीं किया गया तो इस मेगा बजट फिल्म की भी हालत भी ‘लाइगर’ जैसी हो सकती हैं।”

शाहरुख खान का कैमियो भी नहीं दिखा पाया कोई कमाल…

उमैर संधू ने ‘ब्रह्मास्त्र’ फिल्म के रिव्यु करते हुए फिल्म के वीएफएक्स की तारीफ तो की पर फिल्म की कहानी को निराशाजनक बताया। इस फिल्म में बॉलीवुड के किंग खान यानी शाहरुख खान का भी कैमियो रोल है। पर उनका रोल भी फिल्म में कुछ खास इंपैक्ट नहीं दिखा पाया। उमैर संधू ने आगे कहा कि फिल्म की जान उसकी कहानी होती है जो इस फिल्म में दूर-दूर तक नजर नहीं आई।

यानी ब्रह्मास्त्र की हालत भी लाइगर जैसी ही है “नाम बड़े और दर्शन छोटे”। अब 9 सितंबर का ही इंतजार है तभी पता चल सकता है कि ब्रह्मास्त्र लोगों का दिल जीत पाती है या नहीं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: